9th class biology utak kya hai

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on telegram
  • कोशिकाओं के समूह को ऊतक कहते है जो एक विशिस्ट कार्य को सम्पादन करता है।
  • जैसे पेशिये कोशिका सिकुड़ने तथा फैलने का कार्य करती है।
  • तंत्रिका कोशिकाएं सन्देश को वाहक करने में।
  • रक्त, हार्मोन, भोजन, ऑक्सीजन और अपशिस्ट प्रदार्थ का वहन करने के लिए।
  • पौधों में वाहक नलिकाए संम्ब्धित कोशिकाए भोजन तथा जल का परिवाहन करता है।
  • बहु-कोशिकीय जीवो में श्रम विभान होता है।

पौधों में सहारा मृत कोशिका के द्वारा होता है तथा पौधों के विभाजन क्षमता के अनुसार ही पौधे के UTAK को वर्गीकरण किया जाता है।

utak kya hai
  • जन्तुओ में कोशिका वृद्धि अधिक एकरुप होती है इसीलिए जन्तुओ में विभाज्य तथा अविभाज्य क्षेत्रो की कोई सिमा नहीं होती है।

पादप उत्तंक (padak utak)

  • पौधों में एक निश्चित क्षेत्रो में होती है इसका कारण विभज्योतक कहलाता है।
  • विभज्योतक की कोशिकाए अत्यधिक क्रियाये होती है तथा अत्यधिक कोशकाये द्रव्य पतली कोशिका भित्ति और स्पष्ट केन्द्रकऔर इसमें रसधानी नहीं होती है।

स्थयी ऊतक

  • विभज्योतक कोशिका द्वारा बनी UTAKअपना शक्ति खो देता है जिसके परिणाम स्वरूप स्थायी ऊतक का निर्माण होता है।
  • एक विशिस्ट कार्य करने के लिए स्थायी रूप और आकर लेने की क्रिया को विभेदीकरण कहते है।

स्थायी ऊतक दो प्रकार का होता है

सरल स्थयी ऊतक

  • एपिडर्मिस ऊतक के निचे वाले परत को सरल स्थाई  ऊतक कहते है। पैरेंकारमा इसमें अधिक पाया जाने बाला ऊतक है इसमें रिक्तया ज्यादा होता है दो कोशिकाओं के बिच।
  • ये भोजन भंडारण करता है कुछ पैरेन्काइमा ऊतकों में क्लोरोफिल पाया जिससे प्रकाश संश्लेषण सम्पादन होता है उसे जकीरेबजौना कहा जाता है।
  • जलिए पौधों में पैरेन्काइमा की कोशिकाओं के मध्य हवा की गुटिकाऐं पायी जाती है इसे इस पैरेन्काइमा को ऐरेन्काइमा कहा जाता है।
  • पौधों में लचीलापन बिना टूटे कलेन्काइमा के कारण तथा यांत्रिक सहायता प्रदान करता है।
  • इस ऊतक की कोशिकाये जीवित, लम्बी तथा अनियमित ढंग से होता है तथा कोने में मोटी होती है।
  • इसमें रिक्तिया दो कोशिकाओं के बिच कम होता है।

स्क्लेरेन्काइमा

  • यह ऊतक पौधों को कठोर और मजबूती प्रदान करती है। जैसे :- नरियल का छिलका।
  • ये मृत कोशिका का पतली तथा लम्बी ऊतक होती है जिसका कारण इस ऊतक के भिंती लिगिनन के कारण मोती होती है।
  • इसमें भी रिक्तिया नहीं होती है यह संवहन मंडल के निकट तथा पन्तो के शिराओ और बीजो और फ्लो के कठोर छिलके में उपस्थ्ति रहता है। कोशिका के बहरी परत एपिडर्मिस है। शुष्क स्थानों पर एपिडर्मिस मोटी होती है जो जल को बर्वाद (क्षय) से रोकती है सभी पौधों मे रक्षा प्रदान करता है।

एपिडर्मल

  • यह जल को क्षय तथा यांत्रिक घात, परजीवी कवक के प्रवेश से रोकती है।
  • ये एपिडर्मिस का उत्तरदायित्व है।
  • पतियों में एपिडर्मिस में छोटे- छोटे छिद्रो को देख सकते है जिसे स्टोमेटा कहते है।
  • स्ट्रॉमेटा को दो वृक्क के जैसा संरचना से घेरे रहता है जिसे रक्षि कोशिका कहते है। स्ट्रॉमेटा द्वारा गैसों का आदान – प्रदान होता है।
  • आयु के साथ वृक्ष की सुरक्षात्मक ऊतकों में परिवर्तन होता है।
  • सुबरिन प्रदार्थ के कारण इन छालो में हवा पानी अभेद बनती है।
  • एक ही प्रकार के कोशिकाओं से निर्मित भिन्न -भिन्न प्रकार के ऊतक जो दिखने में एक समान दिखती है उसे सरल स्थायी ऊतक कहते है।

जटिल स्थायी ऊतक

  • एक से अधिक प्रकार के कोशकाओ से मिलकर बने ऊतक को स्थायी ऊतक कहते है। जैसे :- फ्लोएम, जाइलम अदि।
  • जाइलम ,फ्लोएम ऊतक को संवहन उतक भी कहते है जो संवहन मंडल का निर्माण करता है।
  • जाइलम टैकिड (वाहिनिका), वाहिका, जाइलम पैरेन्काइमा और जाइलम रेशा से मिलकर बना होता है।
  • ट्रैंकिङ एवं वाहिका की कोशिका मोटीहै।
  • ट्रैंकिङ बहिकाओ की संरचना नलिकाकार होता है जिसके द्वारा खनिज लवण उधर्व्धार संवहन करता है।
  • पैरेन्काइमा भोजन संग्रह करता है जाइलम फाइवर इसे सहारा देने का कार्य करता है।
  • फ्लोएम पांच प्रकार का होता है।
  • फ्लाोएम पैरेन्काइमा,साथी कोशकाए, चालिनी कोशिकाए, चालनी नलिकाए, फ्लाएम रेशे आदि।
  • चलनी नलिका छिद्रित नलिकाकार होता है।
  • फ्लाएम रेशो को छोड़कर फ्लोएम कोशिए जीवित कोशिकाए है।

Tissue (TISSUES)

utak kya hai
A group of cells is called tissue that performs a specific function.
For example, the muscular tissue works by shrinking and spreading.
Nerve cells carry the message.
To carry blood, hormones, food, oxygen, and waste matter.
In plants, the carrier cells carry food and water.
In multicellular organisms, labor is differentiated.
In plants, dead cells’ support is done, and the plant’s UTAK is classified according to the plants’ division capacity.
tissue kya hai
Cell growth in animals is more uniform, so there is no limit to animals’ divisible and indivisible areas.

Padak tissue

The reason why plants occur in a specific area is called a vibrator.
The meristem cells are highly functional, and the extracellular fluid is a thin cell wall and an apparent nucleus, and it does not have a concavity.

Permanent tissue

The tissue formed by the meristem cell loses its strength resulting in the formation of permanent tissue.
The differentiation of the permanent form and size of taking a specific function is called.
There are two types of permanent tissue.
Simple permanent tissue.
The bottom layer of epidermis tissue is called superficial permanent tissue. The parenchyma is the tissue found in it; there is more space in it between two cells.
It stores food. Chlorophyll found in some parenchyma tissues, which causes photosynthesis, is called Zakirebjuna.
In air plants, air pellets are found in parenchyma cells, and this parenchyma is called aerenchyma.
Resilience in plants is due to uninterrupted collenchyma and provides mechanical support.
Cells of this tissue are living, elongated and irregular, and thick in the corner.
The vacuole in it is less than that between two cells.

Sclerenchyma

This tissue hardens and strengthens the plants, such as – Peel of male.
It is a thin and elongated tissue of a dead cell, so the lignin of the tissue causes pearl.
There is also no vacancy in it; it is present near the convection board and in the problematic veins of the veins and the seeds and the flow. The outer layer of the cell is the epidermis. In dry places, the epidermis is thick, preventing water from wasting (decay), providing protection to all plants.

Epidermal.

It prevents water from decay and mechanical penetration, entry of parasitic fungi.
This is the responsibility of the epidermis.
In husbands, one can see small holes in the epidermis, which is called stomata.
Stromata is surrounded by two kidney-like structures called defense cells. Stomata exchange gases.
The protective tissue of the tree changes with age.
The air in these barks becomes water-impervious due to the submarine substance.
Different types of tissue made from the same kind of cells, which look similar in appearance, are called superficial permanent tissues.
Complex permanent tissue.
Tissue made up of more than one type of cell is called permanent tissue, such as – phloem, xylem, etc.
Xylem, also called the phloem tissue, is the convection tissue that forms the convection system.
The xylem is composed of vaccinia, vaccine, xylem parenchyma, and xylem filament.
The cell of the tank and vessel is thick.
The structure of the trachea polymers is tubular by which the mineral salt conducts the convection.
Parenchyma stores food, Xylem Fever, acts as a support.
There are five types of phloem. Phloem parenchyma, companion cells, chalice cells, sieve tubes, phloem fibers, etc.
The sieve tube is perforated.
Phloem is living cell cells except for phloem fibers.

About Me

3 thoughts on “9th class biology utak kya hai”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Register if you don't have an account







Recommended Photo Size: 250 x 320.