Who is khan sir

Hello friend aaj main aapko khan gs research centre, khan gs research centre Patna, khan gs research centre Wikipedia, khan gs research centre youtube, khan gs research centre Patna contact number, khan gs research center Wikipedia, khan sir gs research centre, khan gs research centre owner ke bare me.

khan sir jivani

View the autosave

कैसे आप लोग दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं पटना बिहार में सबसे बड़ी कोचिंग खान जी.एस रिसर्च सेंटर(Khan gs research centre) और सबसे बड़े लाइब्रेरी (khan sir library patna) चलाने वाले खान सर (Khan sir) के बारे में। खान सर का जन्म गोरखपुर उत्तर प्रदेश में हुआ था। उन्होंने 12th क्लास तक की स्कूल एजुकेशन गोरखपुर से किया। उसके बाद यह ग्रेजुएशन करने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी आ गए। जब 12th क्लास में थे तो उन्होंने AEEE की तैयारी की थी लेकिन क्योंकि एग्जाम की एक रात पहले उन्होंने काफी देर तक पढ़ाई की थी। इसलिए एग्जाम के लिए सोते ही रह गए थे।

khan sir qualification

दोस्तों Khan sir qualification ki bat kre to खान सर बचपन से पढ़ाई में बहुत इंटेलिजेंट intelligent थे। अगर देखा जाए तो वह एक ऑलराउंडर स्टूडेंट थे उनका कोई पार्टिकुलर सब्जेक्ट नहीं था बल्कि उन्हें हर सब्जेक्ट में इंटरेस्ट था । उन्हें बचपन से ही अलग-अलग फील्ड के knowledge लेने में मजे आते थे। इसका अनुमान इस बात से लगा सकते हैं कि उन्होंने अपने ग्रेजुएशन PCM (PHYSICS, CHEMISTRY, MATHEMATICS) से कंप्लीट की है। जबकि वह अपने कोचिंग सेंटर में बच्चों को जी.एस पढ़ाते हैं। अपने कॉलेज टाइम में खान सर स्टूडेंट यूनियन मे बहुत एक्टिव रहते थे। फाइनल ईयर इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन के लीडर थे जहां पर स्टूडेंट की मांगों को पूरा कराने के चक्कर में तीन बार जेल भी जाना पड़ा था।

khan sir patna biography in hindi

खान सर का जन्म तो यूपी में हुआ लेकिन उनका ननिहाल यानी कि मामा का घर बिहार में था। जहा वे बचपन से ही काफी आया जाया करते थे जिससे उनके अंदर बिहार के प्रति एक अलग ही प्रेम है। अपने स्कूल व कॉलेज के टाइम पर बिहार इतिहास पढ़ने पर बिहार से काफी प्रभावित थे। वे कहते हैं। what think about bihar by khan sirकि बिहार में कुछ ऐसी बात है जिससे यहां पर आर्यभट्ट, चाणक्य, चंद्रगुप्त की तरह हजारों महान लोग पैदा हुए हैं। बिहार के हिस्ट्री जानने के बाद खान सर को इस बात का बड़ा दुख है कि बिहार जैसी महान भूमि ने अपना सम्मान खो दिया है। इसलिए वे हमेशा अपने पटना स्थित कोचिंग सेंटर के बच्चों से कहते हैं कि हम सबको मिलकर पुराना नाम मगध बनाना है। बिहार उसका खोया हुआ सम्मान वापस लाना है।

khan sir wife,
khan sir biography,
khan sir patna qualification,
khan sir patna real name,
khan sir patna wikipedia,
khan sir real name,
khan sir patna biography wikipedia,
khan sir qualification
Khan Gs Research Centre

Khan Sir Thought Of The Day Khan Sir Khan Sir Motivation .

मैं आपको अपने बारे में बताओ तो मैं थोड़ा देशभक्त टाइप का आदमी हूं। मैं हिंदुस्तानी होने में बिलीव करता हूं ना कि हिंदू, मुस्लिम होने में इसलिए देश में क्या कुछ चल रहा है। यह जानने के लिए मैं स्टडी आइक्यू एजुकेशन Study Iq जैसे ट्रस्टेड फॉलो करता हूं यूट्यूब में वीडियो देखता था तो सजेशन में खान सर का वीडियो जरूर आती थी। लेकिन एक दिन उनके वीडियो देखी तब से भाई मैं इनको फैन हो गया। इनके समझाने का तरीका कठिन से कठिन आसानी से समझा देते, उसके बाद मैंने इनकी सारे वीडियो देखीं मुझे सबसे ज्यादा पसंद आई। इसके पढ़ाने के तरीके के अलावा भी उससे ज्यादा उनके हिंदू मुस्लिम में भेद न करना, हिंदुस्तानी होने पर जोड़ देना।

खान सर त्योहार के बारे में क्या सोचते है

Khan sir अपने कोचिंग सेंटर में ईद, दिवाली, दशहरा धूमधाम से मनाते हैं। मुस्लिम होने के बावजूद वे हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सब के त्योहारों को मनाते हैं। वह अपने कोचिंग सेंटर के बच्चों को भी यही सिखाते हैं कि हमें हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई नहीं बल्कि हमे हिन्दोस्तानी होनी चाहिए। मैं अपना पर्सनल ओपिनियन बताऊं तो एपीजे अब्दुल कलाम के बाद यह दूसरे ऐसे मुस्लिम भाई हैं जिन से मैं इतना प्रभावित हुआ हूं।

खान सर से लोगो में नफरत का नजारा की एक झलक

अपनी इसी तरह सर्वधर्म समान व हिंदुस्तानी होने की विचारधारा की वजह से कुछ विशेष समुदाय होने के लोगों ने 11 मई 2019 को उनकी पटना स्थित कोचिंग सेंटर पर जबरदस्ती बमबारी कर दी थी। असल में हुआ यह था कि खान सर अपने कोचिंग सेंटर में हर त्योहारों को चाहे वह हिंदू हो, मुस्लिम, सिख, ईसाई किसी का भी हो बड़े धूमधाम के साथ मनाते हैं। संक्रांति के दिन खिचड़ी का त्यौहार होता है । खान सर ने अपने कोचिंग सेंटर में बड़ी मात्रा में दही और चूडा का इंतजाम किया, विकलांग बच्चों को खुद के हाथों से खिचड़ी खिलाई वह बड़े धूमधाम से मनाया। तब से कुछ धार्मिक समुदाय के द्वारा उनके पास धमकी भरे कॉल आने लगी कि आप मुस्लिम होकर हिंदुओं के त्योहारों में इंटरफेयर मत करिए। इस बीच छेड़खानी मत करिए लेकिन खान सर इग्नोर करते रहे ।

खान सर के कोचिंग संस्थान पर असामाजिक तत्त्व द्वारा हमला

जब खान सर ने सरस्वती पूजा का त्यौहार भी बच्चों के साथ बड़े धूमधाम से मनाया तो धार्मिक समुदायों ने साफ कह दिया कि हम आपसे इसका बदला लेंगे अब आपको पटना छोड़कर जाना पड़ेगा। और इस बात का बदला लेने के लिए 11 मई 2019 को सुबह 9:45 में 15 से 20 लड़के हॉकी स्टिक बैट बम बारूद आदि के साथ कोचिंग सेंटर में घुसे सीसीटीवी कैमरा, एलईडी, लैपटॉप जो भी मिला उसने तोड़ फोड़ कर दिया ।

सारे स्टाफ व टीचर को पीट दिया और जाने से पहले उन्होंने 5 सात बम भी फोड़ दिए ताकि दहशत का माहौल क्रिएट हो जाए लेकिन खान सर कहां रुकने वाले थे। उन्होंने अगले ही दिन अनाउंस कर दिया कि आप चाहे हमारे जान ले ले आप हमें मार डाले लेकिन हम बच्चों को पढ़ाना नहीं छोड़ेंगे। एक्चुअल में खान सर ने पटना में जुकेशन को इतना सस्ता कर दिया है कि और कोचिंग सेंटर और और कोचिंग इंस्टीट्यूट को बड़ा नुकसान होता है। इन हमलों के पीछे दूसरे दूसरे कोचिंग सेंटर वालों को भी हाथ माना जाता है ।

खान सर की लोकप्रियता की एक झलक(A glimpse of Khan sir’s popularity)

आप खान सर की कोचिंग सेंटर खान जी एस रिसर्च सेंटर के लोकप्रियता इस बात से भी समझ सकते हैं। खान सर अपने एक कोचिंग सेंटर में पढ़ाते हैं लेकिन उनकी उसी क्लास का लाइव सेशन 10 -12 कोचिंग सेंटर में चलता है यानि की सिर्फ एक मैच में लगभग 2000 बच्चे होते हैं यानी कि खान सर अपनी एक मैच में लगभग 20000 बच्चों को एक साथ पढ़ लेते हैं। लाइव क्लासेज के द्वारा उनकी क्लास में सीटे कम पड़ जाती है तो बच्चे पीछे खड़े होकर कई घंटों तक पढ़ाई कर लेते हैं।

खान सर ने खान जीएस को बिहार का सबसे बड़ा कोचिंग सेंटर बना दिया है । खान सर का विशेष फोकस इस बात पर है की टेक्नोलॉजी का यूज करके बच्चों को ज्यादातर तरीके समझाए ज्यादा से ज्यादा टॉपिक को वीडियो के फॉर्म में समझाया जाए व शिक्षा को ज्यादा से ज्यादा सस्ता किया जाए । खान सर के पढ़ाने का तरीका इतना एंटरटेनिंग व मोटिवेटिंग है कि उनकी क्लास में लगभग 100% बच्चे की उपस्थिति होती है।

Some interesting fact of Khan sir

खान सर गोरखपुर यूपी से है लेकिन उन्होंने कोचिंग के लिए बिहार चुना क्योंकि बिहार में एजुकेशन को बहुत सस्ता करना चाहते हैं। उनका मानना है कि

Khan sir quotes in hindi

शिक्षा उस शेरनी का दूध है इसे जिसने भी पिया है वह दहाड़ा है

खान सर

what think about bihar by khan sir

खान सर अपने स्टूडेंट लाइफ में बिहार से बहुत प्रभावित थे उनका मानना है कि बिहार का पूरे भारतवर्ष में सबसे गौरवशाली इतिहास रहा है। लेकिन बिहार अपना मान-सम्मान खो चुका है इस सम्मान को दोबारा वापस लाने की जरूरत है जो कि शिक्षा के माध्यम से संभव हो सकता है। उनका मानना है कि बिहार पुराने मगध जैसा सम्मान दिलाना है। आपको बता दूं कि बिहार को हमारे भारतीय इतिहास में मगध के नाम से जाना जाता था। मगध भारतवर्ष का सबसे शिक्षित, सम्पन, ताकतवर और महान साम्राज्य था।

खान सर के प्रति सेलिब्रिटी का क्या नजरिया है(What is the attitude of celebrity towards Khan sir)

जब देश से जुड़ी किसी प्रॉब्लम पर यह वीडियो बनाते हैं तो वीडियो के अंत में इनके सलूशन जोरदार होते हैं कि फिल्म स्टार अनुपम खेर, Sonu Nigam जैसे लोग भी ट्विटर पर इनकी वीडियो को शेयर करते हैं। सिर्फ नाम के लिए नहीं बल्कि दर्जनों ऐसे सेलिब्रिटी है जो इन के वीडियोस देखने के बाद share krete hain. inke video dekhne ke baad कई बड़े नेता व मंत्री कॉल आते क्योंकि उसके लास्ट में जो video ka सॉल्यूशंस होते हैं वह बहुत ही जबरदस्त होते हैं बहुत ही अच्छे होते हैं।

खान सर के बारे में अफवाह (Rumor about Khan sir)

ऐसी अफवाह है कि इनकी एक गर्लफ्रेंड है जो हाई अफसर (High Officer) की तैयारी कर रही है लेकिन ऐसा नहीं है। Khan sir की 2 साल पहले सगाई हो चुकी है और इसी साल 2020 में उनकी शादी भी होने वाली हैं।

खान सर के पटना आने के बाद का सफर

खान सर जब शुरुआत में पटना गए थे कोचिंग सेंटर खोलने के लिए तो पटना में तो उनके पास शुरू में कोई घर वगैरह तो था नहीं। इसलिए वह फ्लैट रेंट में लेने के लिए गए लेकिन उस मकान मालिक इन्होंने यह कहकर मना कर दिया कि आप मुस्लिम है इसलिए हम आपको नहीं रख सकते। दूसरे फ्लैट गए तो वहां का मकान मालिक मुस्लिम था उसने कहा भाई आप हिंदू तो नहीं क्योंकि हम हिंदुओं को नहीं रखते। फिर खान सर कहीं और जगह पर गए और उन्होंने फाइनल वहा फ्लैट लिया जहा का मकान मालिक ने उनसे यह कहा कि भाई हमें हिन्दू , मुस्लिम से कोई फर्क नहीं पड़ता।

कुछ सालों बाद एक इंसान खान सर के पास अपनी बच्ची के लिए ब्लड लेने आता ह। khan sir अपने कोचिंग सेंटर के बच्चों से ब्लड डोनेशन (Blood donations) भी करवाते हैं। जब उसने khan sir को देखा तो उसका मुंह खुला का खुला रहेगा। क्योंकि वह इंसान कोई और नहीं बल्कि वह पहला मकान मालिक ही था। जिसने उन्हें मुस्लिम होने की वजह से फ्लैट देने से मना कर दिया था khan sir ने चुटकी लेते हुए कहा आपको हिंदू या मुस्लिम का. उस इंसान ने कहा भाई कोई भी चलेगा। उस दिन के बाद से वह इंसान काफी बदल गया।

khan sir youtube channel income

हम बात करते हैं खान सर की यूट्यूब चैनल (Khan gs research centre) का इनकम(Khan sir youtube channel income) के बारे में तो खान सर महीने का लगभग ₹17.3 लाख से 3 करोड़ तथा बार्षिक 2 करोड़ से 33 के आसपास यूट्यूब से आते हैं। जहां पर वह महीने लाखों कमाते। सबसे अच्छी बात यह है कि वह इस पैसे को खुद नहीं रखते बल्कि उस पैसे का अधिकांश हिस्सा अनाथ आश्रम, गौशाला, एनजीओ आदि में दान करते हैं। उनके खुद के अनाथ आश्रम और गौशाला हैं।

यह व्यक्ति फंड करते हैं दोस्तों अगर आपको लगता है कि खान सर ने यह अचीवमेंट बड़े ही आसानी से प्राप्त कर ली है तो आप गलत है यह तो उनकी 18 घंटे मेहनत का सफर का परिणाम है। पटना में उन्हें कई तरह की प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है लेकिन वह लगे रहे डटे रहे और खुद को इम्प्रूव किया आज भी हजारों युवाओं के प्रेरणा स्रोत हैं ।दोस्तों आशा करता हूं कि आपको ये लेख पसंद आई हो ।

धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *